विंस्टन चर्चिल का सिगार: एक प्रेम प्रसंग जो जीवन भर चला

विंस्टन चर्चिल बहुत प्यार करने वाले व्यक्ति थे। वह अपने देश, अपने परिवार और अपने सिगार से प्यार करता था। सिगार के प्रति उनका प्रेम जगजाहिर था और उन्हें अक्सर महत्वपूर्ण बैठकों और कार्यक्रमों के दौरान सिगार पीते देखा जाता था।

लेकिन चर्चिल का सिगार प्रेम सिर्फ एक आदत से कहीं अधिक था। यह एक आजीवन मामला था जो तब शुरू हुआ जब वह एक युवा व्यक्ति था।


चर्चिल ने पहली बार सिगार तब चखा जब वह 16 साल के थे। वह तुरंत इसके आदी हो गए और जीवन भर सिगार पीते रहे। वह एक दिन में 10 सिगार तक पीने के लिए जाने जाते थे।

चर्चिल का पसंदीदा सिगार ब्रांड रोमियो वाई जूलियट था। उन्होंने ला अरोमा डे क्यूबा जैसे अन्य क्यूबा ब्रांडों के सिगार का भी आनंद लिया। वह अक्सर लंदन में अपने पसंदीदा तंबाकू विक्रेता, जेम्स जे. फॉक्स से सिगार मंगवाते थे।

चर्चिल का सिगार सिर्फ एक आदत से कहीं अधिक था। वे उसके लिए आराम और खुशी का स्रोत थे। जब वह आराम कर रहा होता था या जब वह किसी कठिन समस्या पर काम कर रहा होता था तो वह अक्सर इनका धूम्रपान करता था।

चर्चिल के सिगार भी उनके रुतबे का प्रतीक थे। वह एक विश्व नेता थे, और वह एक विश्व नेता की तरह सिगार पीते थे। वह अक्सर अपने सहकर्मियों और अधीनस्थों के सामने इनका सेवन करते थे और कभी-कभी अपनी बात मनवाने के लिए इनका इस्तेमाल भी करते थे।


विंस्टन चर्चिल का सिगार प्रेम जीवन भर बना रहा। वह उन्हें तब तक पीता रहा जब तक उसकी मृत्यु नहीं हो गई। उनके सिगार उनके व्यक्तित्व का एक हिस्सा थे और उन्होंने उन्हें वह इंसान बनाने में मदद की जो वह थे।

ब्लॉग पर वापस जाएँ

एक टिप्पणी छोड़ें

कृपया ध्यान दें, टिप्पणियों को प्रकाशित करने से पहले अनुमोदित किया जाना आवश्यक है।